रिपोर्टिंग से चूके भावी डॉक्टर्स के लिए बड़ी राहत, अब 12 जुलाई तक होगी रिपोर्टिंग

*राजस्थान स्टेट एमबीबीएस-बीडीएस मेडिकल काउंसलिंग*

*…रिपोर्टिंग की तारीख बढ़ाई गई ।। रिपोर्टिंग से चूके विद्यार्थियों के लिए बड़ी राहत*

*प्रथम राउंड सीट एलॉटमेंट के तहत रिपोर्टिंग अब 12 जुलाई सायं 5 बजे तक ।। एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर के एकेडमिक ब्लॉक में करना होगा रिपोर्ट ।।*

*… प्रथम राउंड की रिपोर्टिंग के दौरान बॉन्ड/बैंक गारंटी की आवश्यकता नहीं ।।*

नीट -2019 में सफल विद्यार्थीयों हेतु राजस्थान राज्य के सरकारी एवं गैर सरकारी मेडिकल संस्थानों में एमबीबीएस-बीडीएस सीटों पर प्रवेश हेतु आयोजित की जा रही काउंसलिंग प्रक्रिया के तहत प्रथम राउंड हेतू रिपोर्टिंग की अंतिम तारीख बढ़ा दी गई है। करियर प्वाइंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट देव शर्मा ने बताया कि पूर्व जारी कार्यक्रम के अनुसार प्रथम राउंड के तहत रिपोर्टिंग की अंतिम तारीख 9 जुलाई थी। किंतु काउंसलिंग प्रशासन ने विद्यार्थी हित को ध्यान में रखते हुए इसे 12 जुलाई तक बढ़ा दिया है। इस संबंध में एक नोट काउंसलिंग की ऑफिशियल वेबसाइट पर निरंतर प्रसारित किया जा रहा है।
देव शर्मा ने बताया कि ऐसे विद्यार्थी जो तय समय सीमा में दस्तावेज पूर्ण ना होने के कारण या किसी अन्य कारणवश रिपोर्ट करने से चूक गए थे। उनके लिए निश्चित तौर पर यह एक स्वर्णिम अवसर है।
प्रथम राउंड में सफल विद्यार्थियों को डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन हेतु एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर के एकेडमिक ब्लॉक में रिपोर्ट करना होता है। नए आदेशानुसार रिपोर्टिंग की समय सीमा अब 12 जुलाई सायं 5 बजे तक हे।

*… प्रथम राउंड की रिपोर्टिंग हेतु बॉन्ड/बैंक गारंटी की आवश्यकता नहीं ।।*

देव शर्मा ने बताया कि सफल विद्यार्थियों को जारी किए गए सीट अलॉटमेंट लेटर में आवश्यक दस्तावेजों की सूची दी गई है। इस सूची में कुल 21 आवश्यक दस्तावेजों का उल्लेख है। आवश्यक दस्तावेजों की सूची में बिंदु संख्या 16 पर बांड/ बैंक गारंटी अंकित हैं। अतः विद्यार्थी आवश्यक मूल दस्तावेजों को पूर्ण करने के लिए उपरोक्त बॉन्ड/बैंक गारंटी को तैयार करने हेतु प्रयासरत थे।किंतु ज्ञात हुआ कि काउंसलिंग की ऑफिशियल वेबसाइट पर एक नोट निरंतर प्रसारित हो रहा है जिसके तहत प्रथम राउंड कि रिपोर्टिंग के दौरान बैंक गारंटी/ बांड की आवश्यकता नहीं है।
ज्ञात रहे कि राजस्थान स्टेट एमबीबीएस-बीडीएस मेडिकल काउंसलिंग इनफॉरमेशन बुकलेट में सर्विस बांड का एक परफॉर्मा दिया गया है जिसके तहत विद्यार्थी एमबीबीएस की गवर्नमेंट सीट आवंटित होने पर 2 साल की गवर्नमेंट सर्विस के लिए बाध्य है। यदि विद्यार्थी ऐसा नहीं करता है तो उस पर ₹5 लाख की पेनल्टी का प्रावधान है।
निश्चित तौर पर यह बांड कई विद्यार्थियों अभिभावकों को विचलित करता है किंतु प्रथम राउंड की रिपोर्टिंग में इसकी आवश्यकता समाप्त किए जाने पर विद्यार्थियों एवं अभिभावकों ने राहत महसूस की है।

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Career Point
Register New Account
Reset Password