केवीपीवाई के ऑनलाइन आवेदन 8 जुलाई से प्रारंभ

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार

किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना।। मेद्यावी छात्रों को मूलभूत विज्ञान में अनुसंधान हेतु प्रेरक प्रोत्साहन योजना ।।

ऑनलाइन आवेदन आज 8 जुलाई से प्रारंभ , 20 अगस्त आवेदन की अंतिम तिथि, परीक्षा 3 नवंबर को ।।

किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना जिसे केवीपीवाई के नाम से अधिक जाना जाता है, भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा 1999 में प्रारंभ किया गया एक फेलोशिप प्रोग्राम है। कैरियर पॉइंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट देव शर्मा ने बताया कि इस फेलोशिप प्रोग्राम का मूल उद्देश्य प्रतिभाओं को पहचानना तथा मूलभूत विज्ञान में शोध की दिशा में भविष्य निर्माण के लिए उन्हें प्रोत्साहित करना है।
वस्तुतः किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना कक्षा ग्यारह, कक्षा बारह एवं कॉलेज शिक्षा के प्रथम वर्ष में अध्ययन कर रहे विज्ञान के विद्यार्थियों के लिए एक प्रतिष्ठित शिक्षावृत्ति योजना है।
देव शर्मा ने बताया कि किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना-2019 के लिए ऑनलाइन आवेदन 8 जुलाई से प्रारंभ होंगे। आवेदन की अंतिम तिथि 20 अगस्त है। परीक्षा के प्रथम चरण का आयोजन 3 नवंबर 2019 को किया जाएगा।

केवीपीवाई परीक्षा हेतु पात्रता शर्तें ।। आयोजन दो चरणों में ।। प्रथम चरण में कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट अंग्रेजी एवं हिंदी दोनों माध्यमों में ।।

केवीपीवाई परीक्षा की पात्रता हेतु कक्षा 10 में विज्ञान व गणित विषय में सामान्य एवं ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 75% तथा एससी,एसटी एवं दिव्यांग श्रेणी के विद्यार्थियों के लिए 65% अंक आवश्यक है।
इस फेलोशिप के लिए के लिए यह भी आवश्यक है विद्यार्थी अपनी बारहवीं बोर्ड की परीक्षा में गणित तथा विज्ञान (भौतिकी, रसायन, जीव विज्ञान) विषय मैं एग्रीगेट न्यूनतम 60% अंक( सामान्य एवं ओबीसी श्रेणी के लिए) तथा 50% (एससी, एसटी एवं दिव्यांग श्रेणी के लिए) प्राप्त करें।
देव शर्मा ने बताया कि केवीपीवाई परीक्षा का आयोजन दो चरणों में किया जाता है। प्रथम चरण में एक ऑनलाइन एप्टिट्यूड टेस्ट होता है जिसे अंग्रेजी एवं हिंदी दोनों माध्यमों में आयोजित किया जाता है। प्रथम चरण में सफल विद्यार्थियों के लिए द्वितीय चरण आयोजित किया जाता है जोकि पर्सनल इंटरव्यू के स्वरूप में होता है।

…फेलोशिप के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि ।। मासिक स्टाइपेंड के साथ वार्षिक कनटीजेंसी राशि भी ।।

देव शर्मा ने बताया कि द्वितीय चरण के पश्चात प्रथम चरण के 75% तथा द्वितीय चरण के 25% अंकों का योग कर अंतिम परिणाम जारी किया जाता है तत्पश्चात चयनित विद्यार्थियों को मूलभूत विज्ञान में स्नातक शिक्षा के लिए ₹5000 महीने का स्टाइपेंड तथा ₹20000 की वार्षिक कंटीजेंसी ग्रांट प्रदान की जाती है।
मूलभूत विज्ञान में स्नातकोत्तर शिक्षा के लिए स्टाइपेंड ₹7000 तथा कंटीजेंसी ग्रांट 28000 रुपए होगी।

… पात्रता को लेकर यहां भी कोर्ट के आदेश का पेच

देव शर्मा ने बताया कि पिछले कुछ वर्षों में लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाएं कोर्ट के आदेश से प्रभावित हुई है।कोर्ट का आदेश परीक्षा से संबंधित हो या काउंसलिंग संबंधित किंतु यह होता जरूर है।
इसी कड़ी में केवीपीवाई की परीक्षा भी शामिल है। कर्नाटका हाईकोर्ट के अंतरिम निर्णय के अनुसार उपरोक्त प्रतिष्ठित परीक्षा हेतु पात्रता की शर्तें पूर्ण करने वाले भारतीय विद्यार्थियों के साथ-साथ ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया तथा पर्सन ऑफ इंडियन ओरिजिन भी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Career Point
Register New Account
Reset Password