जोसा काउंसलिंग के तहत सीट अलॉटमेंट की प्रक्रिया के प्रथम राउंड का परिणाम जारी

जोसा काउंसलिंग- 2019

…जेईई एडवांस तथा जेईई मेंस में सफल विद्यार्थियों हेतु जोसा काउंसलिंग के तहत सीट अलॉटमेंट की प्रक्रिया के प्रथम राउंड का परिणाम जारी

… निर्धारित समय सीमा में विद्यार्थी स्वयं आवश्यक मूल दस्तावेजों के साथ रिपोर्ट करें रिर्पोटिंग सेंटर पर ।। रिपोर्ट ना करने पर संपूर्ण काउंसलिंग प्रक्रिया से निलंबन ।।

… विद्यार्थी स्वयं की सुविधानुसार चयन कर सकते हैं रिपोर्टिंग सेंटर एवं रिर्पोटिंग डेट का

जेईई एडवांस्ड तथा जेईई मेंस -2019 मैं सफल विद्यार्थियों को सीट अलॉटमेंट की प्रक्रिया का कार्य ज्वाइंट सीट एलोकेशन अथॉरिटी, जोसा द्वारा किया जाता है। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जोसा ने कल 27 जून को प्रथम राउंड सीट अलॉटमेंट का परिणाम जारी कर दिया।
केरियर प्वाइंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट देव शर्मा ने बताया कि जोसा की ऑफिशियल वेबसाइट पर लॉगइन कर विद्यार्थी प्रथम राउंड सीट एलॉटमेंट का परिणाम जान सकते हैं।

…सीट एलॉटमेंट लेटर पर दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक समझे विद्यार्थी

देव शर्मा ने बताया कि सफल विद्यार्थी ऑफिशियल वेबसाइट से सीट अलॉटमेंट लेटर प्रिंट कर सकतें है।सीट अलॉटमेंट लेटर पर पर्सनल डीटेल्स, एलॉटमेंट डीटेल्स तथा रिपोर्टिंग डीटेल्स से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी विस्तारपूर्वक दी गई है।
विद्यार्थी इन सभी जानकारियों को भलीभांति जान ले एवं समझ ले।

… तय समय सीमा में विद्यार्थी स्वयं चुन सकते हैं रिर्पोटिंग डेट एवं रिर्पोटिंग सेंटर

ऑफिशियल वेबसाइट पर विद्यार्थी के परिणाम के साथ ही सीट असेपटेंस फीस डिपॉजिशन का विकल्प भी दिया गया है। इस विकल्प का चयन करने पर विद्यार्थी को डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन से संबंधित डेट तथा रिर्पोटिंग सेंटर के चयन का भी ऑप्शन उपलब्ध होता है। अर्थात विद्यार्थी तय मापदंडों में रिर्पोटिंग डेट एवं रिर्पोटिंग सेंटर का चयन स्वयं अपनी सुविधानुसार कर सकता है।
देव शर्मा ने बताया कि यदि विद्यार्थी को जेईई मैंस के आधार पर सीट अलाट होती है तो निर्धारित एनआईटी रिर्पोटिंग सेंटर पर तथा जेईई एडवांस के आधार पर सीट अलाट होती है तो निर्धारित आईआईटी रिर्पोटिंग सेंटर पर रिपोर्ट करना होगा। जोसा की वेबसाइट पर रिपोर्टिंग सेंटर्स की सूचना उपलब्ध है।

आवश्यक मूल दस्तावेजों के साथ विद्यार्थी को स्वयं रिपोर्ट करना होगा रिपोर्टिंग सेंटर पर ।। रिपोर्ट ना करने की स्थिति में संपूर्ण काउंसलिंग प्रक्रिया से निलंबन ।।

28 जून से 2 जुलाई के मध्य प्रातः 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक किया जा सकता है रिपोर्ट

…मूल दस्तावेजों को एवं उनकी स्वयं सत्यापित फोटो प्रतिनिधियों को क्रमवार व्यवस्थित करें विद्यार्थी

रिर्पोटिंग सेंटर एवं रिर्पोटिंग डेट का चयन करने के पश्चात विद्यार्थी दी गई सीट असपटेंस फीस ऑनलाइन जमा करा दें। जनरल, ओबीसी तथा ईडब्ल्यूएस केटेगरी के विद्यार्थियों के लिए सीट असेपटेंस फीस ₹35000 मात्र तथा एससी,एसटी एवं दिव्यांगों के लिए यह ₹15000 मात्र है।
देव शर्मा ने जोर देकर कहा कि ऐसे विद्यार्थियों को जिन्हें प्रथम राउंड में सीट लौट कर दी गई है उन्हें निर्धारित समय सीमा में स्वयं उपस्थित होकर रिर्पोटिंग सेंटर पर रिपोर्ट करना होगा। ऐसा नहीं करने पर विद्यार्थी संपूर्ण काउंसलिंग प्रक्रिया से निलंबित हो जाएगा।
रिर्पोटिंग सेंटर पर विद्यार्थी मूल दस्तावेजों एवं उनकी स्वयं सत्यापित फोटो प्रतिलिपियों को दिए गए निर्धारित क्रम व्यवस्थित कर पहुंचे।

आवश्यक मूल दस्तावेजों को व्यवस्थित करने का क्रम

देव शर्मा ने बताया कि विद्यार्थी आवश्यक मूल दस्तावेजों को नीचे दिए क्रम में व्यवस्थित करें। विद्यार्थी इसी क्रम में स्वयं सत्यापित फोटो प्रतिलिपियों के दो सेट भी बना ले।
1. प्रोविजनल सीट एलॉटमेंट लेटर
2. प्रूफ ऑफ सीट असपटेंस फीस
3. जेईई मेन एवं जेईई एडवांस का एडमिट कार्ड (जो भी लागू हो)
4. कक्षा दसवीं की मार्कशीट या सर्टिफिकेट
5. बारहवीं बोर्ड परीक्षा की मार्कशीट
6. सक्षम अधिकारी द्वारा जारी मेडिकल सर्टिफिकेट
7. अंडरटेकिंग जो कि जोसा वेबसाइट पर उपलब्ध है
8. कैटिगरी सर्टिफिकेट
9. पासपोर्ट साइज के दो फोटोग्राफ
10. फोटो पहचान पत्र

विद्यार्थी यहां विशेष ध्यान रखें कि ओबीसी एनसीएल तथा ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट निश्चित तौर पर 1 अप्रैल 2019 या उसके बाद जारी किया होना आवश्यक है।

… राजस्थान बोर्ड के विद्यार्थियों के लिए विशेष

… शैक्षणिक वर्ष 2018- 19 हेतु राजस्थान बोर्ड के टॉप 20 परसेंटाइल की सूचना जोसा को उपलब्ध नहीं ।। आईआईटी के पश्चात एनआईटी प्लस सिस्टम के लिए भी टॉप 20 परसेंटाइल जारी।।

जोसा द्वारा आईआईटी सिस्टम के लिए टॉप 20 परसेंटाइल 26 जून को जारी कर दिया गया था। इसके पश्चात कल 27 जून को एनआईटी प्लस सिस्टम के लिए भी टॉप 20 परसेंटाइल जारी कर दिया गया। देव शर्मा ने बताया कि यह आश्चर्यजनक है कि राजस्थान बोर्ड हेतु टॉप 20 परसेंटाइल की सूचना ना तो आईआईटी सिस्टम के लिए उपलब्ध है और ना ही एनआईटी प्लस सिस्टम के लिए।
देव शर्मा ने बताया कि 2019 में बारहवीं बोर्ड परीक्षा राजस्थान बोर्ड से उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों के लिए जो कि बारहवीं बोर्ड में आवश्यक प्रतिशत की पात्रता हासिल नहीं कर पाए हैं उन्हें राजस्थान बोर्ड अजमेर से टॉप 20 परसेंटाइल में उपस्थित होने का सर्टिफिकेट प्राप्त करना है।
ऐसा इसलिए है कि जोसा की ऑफिशियल वेबसाइट पर ना तो आईआईटी सिस्टम के लिए और ना ही एनआईटी प्लस सिस्टम के लिए राजस्थान बोर्ड 2019 के लिए टॉप 20 परसेंटाइल उपलब्ध है। यदि राजस्थान बोर्ड द्वारा जोसा को टॉप 20 परसेंटाइल उपलब्ध करा दिया जाता है तो फिर इस सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं होगी।

…. फ्रीज,फ्लोट और स्लाइड का अर्थ समझे विद्यार्थी

सफल विद्यार्थियों को रिर्पोटिंग सेंटर पर रिपोर्ट करने से पूर्व स्विचऑवर से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण टेक्निकल टर्म्स को समझना अनिवार्य है।
स्विचओवर के दौरान विद्यार्थी फ्रीज,फ्लोट एवं स्लाइड ऑप्शन का उपयोग कर सकता है।
देव शर्मा ने बताया कि फ्रीज का तात्पर्य है कि मैं आवंटित किए गए संस्थान एवं ब्रांच दोनों से संतुष्ट हूं तथा मुझे काउंसलिंग के आने वाले राउंड में भाग नहीं लेना है। ऐसे विद्यार्थी डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के पश्चात सीधे आवंटित किए गए कॉलेज को रिपोर्ट करते हैं।
फ्लोट ऑप्शन का तात्पर्य है की मैं अपग्रेडेशन चाहता हूं और आने वाले काउंसलिंग राउंड में भाग लेना चाहता हूं। ऐसे विद्यार्थियों के लिए पूर्व आवंटित कॉलेज एवं शाखा निर्धारित रहती है किंतु साथ ही अपग्रेडेशन का मौका भी रहता है।
स्लाइड ऑप्शन का तात्पर्य है कि मैं आवंटित कॉलेज से तो संतुष्ट हूं किंतु आवंटित कॉलेज मैं आवंटित ब्रांच को अपग्रेड करना चाहता हूं।
देव शर्मा ने विद्यार्थियों को सलाह दी कि फ्रीज, फ्लोट एवं स्लाइड ऑप्शन का उपयोग विशेषज्ञों की सलाह से ध्यानपूर्वक करें।

Career Point
Register New Account
Reset Password