आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज में एडमिशन हेतु विशेष

आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज, पुणे (महाराष्ट्र)

प्रवेश नीट-2019 के आधार पर किंतु टेस्ट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज, कंप्रीहेंशन, लॉजिक एंड रीजनिंग तथा साइक्लोजिकल असेसमेंट टेस्ट से गुजरना होगा आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज में एडमिशन हेतु

आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज पुणे जो कि एएफएमसी के नाम से प्रसिद्ध है, मेडिकल एजुकेशन में देश के शीर्ष संस्थानों में शुमार है।
आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज की स्थापना सन 1948 में मेडिकल के पोस्ट ग्रैजुएट कोर्सेज के लिए की गई थी।
आर्म्ड फोर्स मेडिकल सर्विसेज में मेडिकल ग्रैजुएट्स की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए सन 1962 में इसकी ग्रैजुएट विंग को स्थापित किया गया।

मेडिकल काउंसिल कमिटी द्वारा आयोजित ऑल इंडिया कोटा काउंसलिंग में आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज मैं आवेदन का ऑप्शन चुनें विद्यार्थी ।। आवेदन कर्ताओं की मेरिट सूची में से 1750 विद्यार्थियों को किया जाएगा आमंत्रित।।

केरियर पॉइंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट देव शर्मा ने बताया कि आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज मैं प्रवेश निश्चित तौर पर नीट- 2019 की मेरिट सूची के आधार पर ही होता है। किंतु विद्यार्थियों को मेडिकल काउंसलिंग कमिटी द्वारा आयोजित ऑल इंडिया कोटा काउंसलिंग के दौरान आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए ऑप्शन चुनना होता है। यदि ऑल इंडिया कोटा काउंसलिंग के दौरान विद्यार्थी आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज के ऑप्शन को नहीं चुनता है तो फिर उपरोक्त कॉलेज में प्रवेश संभव नहीं होता।
देव शर्मा ने बताया कि आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए कॉलेज प्रशासन द्वारा आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की एक अलग मेरिट सूची बनाई जाती है। इस मेरिट सूची के आधार पर 1750 चयनित विद्यार्थियों को जिनमें 1170 पुरुष विद्यार्थी तथा 580 महिला विद्यार्थी शामिल है को टेस्ट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज, कंप्रीहेंशन, लॉजिक एंड रीजनिंग के लिए आमंत्रित किया जाता है। तत्पश्चात विद्यार्थियों का साइकोलॉजिकल एसेसमेंट टेस्ट होता है और सफल विद्यार्थियों को कॉलेज के प्रतिष्ठित एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन दिया जाता है।

ऑनलाइन होता है टेस्ट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज कंप्रीहेंशन लॉजिक एंड रीजनिंग ।। समय सीमा 30 मिनट, 40 प्रश्न, 80 अंक।।

नीट के 720 अंकों के साथ ऑनलाइन टेस्ट के 80 अंक जोड़कर कुल 800 अंकों को 4 से विभाजित करने के पश्चात कुल 200 अंकों के आधार पर निर्धारित होती है मेरिट लिस्ट।।

देव शर्मा ने बताया कि केवल नीट के आधार पर ही विद्यार्थी आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज में प्रवेश प्राप्त नहीं कर सकता।
कॉलेज प्रशासन 30 मिनट का एक ऑनलाइन टेस्ट जिसे टेस्ट फॉर इंग्लिश कंप्रीहेंशन लैंग्वेज एंड रीजनिंग कहा जाता है आयोजित करता है। इस टेस्ट में विद्यार्थी से कुल 40 प्रश्न पूछे जाते हैं प्रत्येक प्रश्न दो को का होता है। प्रश्न का गलत उत्तर देने पर आधा अंक काट लिया जाता है अर्थात +2/-0.5 की नेगेटिव मार्किंग की जाती है। 80 अंकों के इस प्रश्न पत्र के अंकों को नीट 2019 के 720 अंकों मैं से प्राप्त अंको के साथ जोड़ा जाता है। अर्थात विद्यार्थी को 800 अंकों में से कितने अंक प्राप्त होते हैं यह ज्ञात किया जाता है तत्पश्चात 4 से विभाजित कर संपूर्ण मेरिट 200 अंकों के आधार पर बनाई जाती है।
मेरिट में उच्च स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों का संस्थान प्रशासन द्वारा साइक्लोजिकल असेसमेंट टेस्ट लिया जाता है तत्पश्चात सफल विद्यार्थियों को मेरिट के अनुसार संस्थान में प्रवेश दिया जाता है।

कुल 150 सीटें।। 145 सीटें भारतीय विद्यार्थियों के लिए ।। 5 सीटें मित्र देशों के विद्यार्थियों के लिए ।। भारतीय पुरुष विद्यार्थियों के लिए 115 सीटें तथा महिला विद्यार्थियों के लिए 30 सीटें।।

देव शर्मा ने बताया कि प्रतिष्ठित आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज मैं एमबीबीएस की कुल 150 सीटें हैं। 145 सीटें भारतीय विद्यार्थियों के लिए है तथा 5 सीटें भारत देश के मित्र देशों के विद्यार्थियों के लिए आरक्षित की गई है।
भारतीय विद्यार्थियों की 145 सीटों में से पुरुष विद्यार्थियों के लिए 115 सीटें तथा महिला विद्यार्थियों के लिए 30 सीटें आरक्षित है।
एमबीबीएस समाप्त होने के पश्चात सभी विद्यार्थियों को आर्म्ड फोर्स मेडिकल सर्विस इसमें शॉर्ट सर्विस कमिशन के तहत समायोजित कर लिया जाता है।
देव शर्मा ने बताया कि आर्मड फोर्सेज में शामिल होकर देश सेवा का जज्बा रखने वाले विद्यार्थियों के लिए एफएमसी पुणे निश्चित तौर पर एक बड़ा मौका है। विद्यार्थियों से आग्रह की इस समय वह इंग्लिश लैंग्वेज, कंप्रीहेंशन एवं लॉजिक के लिए बेहतर तैयारी करते रहे ताकि मौका हाथ से ना छूटे।

Career Point
Register New Account
Reset Password