एम्स-एमबीबीएस की आवेदन प्रक्रिया का आधारभूत पंजीकरण 30 से शुरू

कोटा, 28 नवम्बर। देश की अति प्रतिष्ठित मेडिकल प्रवेश परीक्षा एम्स-एमबीबीएस की आवेदन प्रक्रिया का प्रथम चरण 30 नवंबर 2018 से प्रारंभ कर दिया जाएगा। देव शर्मा ने बताया कि प्रथम चरण जिसे आधारभूत पंजीकरण का नाम दिया गया है, 30 नवंबर 2018 से 3 जनवरी 2019 तक होगा। तत्पश्चात 7 जनवरी 2019 आवेदन फॉर्म की स्थिति ऑनलाइन स्पष्ट कर दी जाएगी, ताकि विद्यार्थी फॉर्म संबंधित त्रुटियों को सुधार सकें। त्रुटि सुधार के लिए 8 जनवरी से 18 जनवरी 2019 तक का समय दिया जाएगा। 22 जनवरी 2019 को विद्यार्थी अपने आवेदन फॉर्म के स्वीकार्यता या अस्वीकार्यता की अंतिम स्थिति को जान पाएंगे।

’यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर एवं अंतिम पंजीकरण’

29 जनवरी 2019 से प्रोस्पेक्टस अपलोड के कार्य के साथ ही विद्यार्थियों को यूनीक आईडेंटिफिकेशन नंबर जारी करने की प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी जाएगी। यह प्रक्रिया 17 फरवरी 2019 तक जारी रहेगी। देव शर्मा ने बताया कि 21 फरवरी 2019 से लेकर 12 मार्च 2019 तक फीस पेमेंट तथा परीक्षा केंद्र चयन के साथ ही अंतिम पंजीकरण की प्रक्रिया जारी रहेगी। एम्स-एमबीबीएस की प्रतिष्ठित परीक्षा 25 मई शनिवार एवं 26 मई रविवार 2019 को दो पारियों में होगी।

6 नए एम्स का प्रारंभ, लेकिन सीटों की संख्या स्पष्ट नहीं

देव शर्मा ने बताया कि ऑफिशियल वेबसाइट पर अपलोड किए गए नोटिस में 6 नए एम्स के प्रारंभ की जानकारी दी गई है। 2018 तक एम्स की संख्या 9 थी तथा सीटों की संख्या भारतीय विद्यार्थियों के लिए 800 थी तथा विदेशी विद्यार्थियों के लिए दिल्ली एम्स में 7 सीटें उपलब्ध थी। गुंटुर तथा नागपुर एम्स में सीटों की संख्या क्रमशः 50 थी। अन्य सभी एम्स में 100 सीटें उपलब्ध थी। उपरोक्त नोट में नए खुलने वाले एम्स में सीटों की संख्या को स्पष्ट नहीं किया गया है किंतु यदि प्रत्येक नए एम्स को 50 सीटें भी प्रदान की जाए तो निश्चित तौर पर 300 सीटों की वृद्धि होगी। इस स्थिति में भारतीय विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध सीटों की संख्या का आंकड़ा 1000 को पार कर जाएगा। बढ़ी हुई सीटों की यह संख्या विद्यार्थियों को अधिक अवसर प्रदान करेगी। शैक्षणिक नगरी कोटा इस सकारात्मक कदम का उत्साह पूर्वक स्वागत करती हैं।

 

Career Point
Register New Account
Reset Password