नेशनल तथा इंटरनेशनल ओलंपियाड का आगाज शीघ्र

नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन जूनियर साइंस आगामी रविवार 18 नवंबर 2018 को

नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन फिजिक्स,केमिस्ट्री बायोलॉजी,एस्ट्रोनॉमी रविवार 25 नवंबर 2018 को

कोटा, 14 नवम्बर। ओलंपियाड एक ऐसा सक्षम प्लेटफॉर्म है जिस पर विद्यार्थी अपनी शैक्षणिक प्रतिभा का राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन कर सकते हैं। प्रतिवर्ष होने वाले इन ओलंपियाड का प्रतिभाशाली विद्यार्थी एवं अभिभावक बेसब्री से इंतजार करते हैं। आगामी रविवार 18 नवंबर 2018 को नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन जूनियर साइंस के साथ ही इसका आगाज होगा। आगामी 26 नवंबर 2018 रविवार को नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन फिजिक्स/केमिस्ट्री/ बायोलॉजी एवं एस्ट्रोनॉमी की परीक्षा होगी। चार चरणों में संपन्न होने वाले इस शैक्षणिक महाकुंभ का यह प्रथम चरण होगा। राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड चार चरणों में संपन्न होता है।
प्रथम चरण नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन है। इसके परिणाम के आधार पर विभिन्न विषयों के लिए प्रत्येक राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों से स्वीकृत कोटा अनुसार विद्यार्थी चयनित किए जाते हैं। दितीय चरण में यह चयनित विद्यार्थी इंडियन नेशनल ओलंपियाड में भाग लेते हैं।इंडियन नेशनल ओलंपियाड में सफल विद्यार्थियों को ओरियंटेशन एवं ट्रेनिंग कैंप के लिए जो कि इस प्रतियोगिता का तीसरा चरण है आमंत्रित किया जाता है। ओरियंटेशन एवं ट्रेनिंग कैंप में से चयनित विद्यार्थी अंतिम चतुर्थ चरण के लिए अंतरराष्ट्रीय ओलंपियाड में भाग लेते हैं।

इंडियन एसोसिएशन आफ फिजिक्स टीचर्स द्वारा आयोजित किया जाता है प्रथम चरण

इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजिक्स टीचर्स जोकि आईएपीटी के नाम से प्रख्यात है द्वारा राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड के प्रथम चरण को आयोजित किया जाता है। अंतिम तीन चरण होमी भाभा सेंटर फॉर साइंस एजुकेशन(HBCSE) जैसी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित संस्था द्वारा आयोजित किए जाते हैं। आईएपीटी 6500 लाइफटाइम मेंबर्स की एक स्वयंसेवी संस्था है। जिसके 100 सदस्य विदेशी है। संपूर्ण भारत मैं इस संस्था के 20 क्षेत्रीय कार्यालय है जो कि केंद्रीय कार्यालय बेंगलुरु द्वारा संचालित किए जाते हैं।सभी सदस्य शैक्षणिक प्रतिभाओं को तलाशने के लिए निस्वार्थ भाव से बिना किसी पारिश्रमिक के कार्य करते हैं।

विभिन्न भाषाओं में आयोजित किए जाते हैं नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन

सिर्फ और सिर्फ नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन फिजिक्स बांग्ला सहित 4 भाषाओं में आयोजित किया जाता है। अन्य सभी सभी नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन हिंदी और अंग्रेजी में आयोजित किए जाते है।

नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन जूनियर साइंस

ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने 30 नवंबर 2018 तक दसवीं की परीक्षा उत्तीर्ण नहीं की है वे विद्यार्थी नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन जूनियर साइंस के लिए पात्र है।
हिंदी और अंग्रेजी माध्यम में होने वाले इस प्रश्न पत्र में कुल 80 प्रश्न होते हैं प्रत्येक प्रश्न 3 अंकों का होता है तथा +3/-1 के आधार पर नेगेटिव मार्किंग होती है।

कुछ अलग कलेवर लिए हुए हैं नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन फिजिक्स
ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने 30 नवंबर 2018 तक 12 वीं बोर्ड की परीक्षा उत्तीर्ण नहीं की है वे विद्यार्थी इन परीक्षाओं के लिए पात्र है नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन फिजिक्स नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन केमिस्ट्री/बायोलॉजी तथा एस्ट्रोनॉमी से भिन्न है। केमिस्ट्री/बायोलॉजी एवम एस्ट्रोनॉमी मैं प्रत्येक प्रश्न तीन अंक का होता है तथा कुल अंक 240 होते हैं।किंतु नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन फिजिक्स में कुछ प्रश्न तीन अंको के तथा कुछ प्रश्न 6 अंकों के होते हैं। तीन अंकों के प्रश्नों में नेगेटिव मार्किंग +3/-1 होती है तथा छ: अंको के प्रश्न मैं यह +6/-2 के आधार पर होती है। सभी प्रश्नपत्रों की परीक्षा अवधि 2 घंटे की तथा अधिकतम अंक 240 होते है।

 राजस्थान छठे पायदान पर

नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन से इंडियन नेशनल ओलंपियाड का सफर स्टेट कोटा के आधार पर तय होता है। प्रत्येक स्टेट एवं यूनियन टेरिटरी से निश्चित सीटों पर ही विद्यार्थी सफल हो सकते हैं। यदि स्टेट कोटा पर नजर डाली जाए तो उत्तर प्रदेश 51 सीटों के साथ प्रथम पायदान पर है। महाराष्ट्र 28 सीटों के साथ द्वितीय स्थान पर है तथा बिहार 25 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर है। राजस्थान 18 सीटों के साथ छठे पायदान अपनी जगह बनाए हुए हैं।

एस्ट्रोनॉमी नाम से भ्रमित ना हो विद्यार्थी

कॅरिअर पॉइंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट देव शर्मा ने बताया कि नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन एस्ट्रोनॉमी में फिजिक्स, मैथ्स एवं एस्ट्रोनॉमी से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। विद्यार्थी एवं अभिभावक इस भ्रम का शिकार हो जाते हैं की एस्ट्रोनॉमी के एग्जामिनेशन में तो सिर्फ और सिर्फ एस्ट्रोनॉमी पर ही प्रश्न पूछे जाएंगे।  विद्यार्थियों को सलाह दी जाती है कि ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर पिछले वर्षों में होने वाले प्रश्न पत्रों का एक प्रिंट ले तथा उसे तय सीमा में हल करने की कोशिश करें।पिछले कुछ वर्षों के प्रश्न पत्र एवं उत्तर तालिका ऑफिशियल वेबसाइट पर उपलब्ध है।

Career Point
Register New Account
Reset Password