भावी इंजीनियर्स ने सीखे नवाचार, किसी ने रोबोट तो किसी ने लाइट ऑटोमेशन बनाया

तकनीक

सीपीयू का 45 दिवसीय इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) ट्रेनिंग प्रोग्राम सम्पन्न

कोटा। कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी (सीपीयू) के कम्प्यूटर साइंस डिपार्टमेंट की ओर से डकनिया रोड स्थित सीपी टॉवर में चल रहा 45 दिवसीय इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) ट्रेनिंग प्रोग्राम शुक्रवार को सम्पन्न हुआ। इस मौके पर भावी इंजीनियर्स ने कई नए प्रोजेक्ट के डेमो दिखाएं। किसी ने ट्रेफिक कंट्रोल करने के लिए रोबोट तो किसी ने स्मार्ट बिल्डिंग, स्मार्ट एग्रीकल्चर व लाइट ऑटोमेशन का लाइव डेमा प्रदर्शित किया।

सीपीयू के अकादमिक निदेशक डॉ. गुरूदत्त कक्कड़ ने बताया कि इस आईओटी प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षण लेने वाले बच्चों को कई तकनीकी बारिकिया बताई गई, ताकि वो भविष्य में बेहतर कार्य कर सकें। प्रशिक्षकों द्वारा स्टूडेंट्स को एलसीडी से की-पैड को अटैच करना व की-पैड के अंदर का सिस्टम बनाना, हाईवोल्टेज कंट्रोल करना, खेत पर ऑटोमेटिक सिंचाई के लिए मोबाइल से पंप ऑनऑफ करना सहित कई नए प्रोजेक्ट सिखाएं गए। सीपीयू के चांसलर प्रमोद माहेश्वरी ने बताया कि समय-समय पर इस तरह के आयोजन करवाने का मकसद है कि स्टूडेंट्स नवीनतम तकनीक से अवगत हो सके और प्रतिभाओं को निखरने का मौका मिले। कॅरिअर पॉइंट के निदेशक ओम माहेश्वरी, अकादमिक निदेशक शैलेंद्र माहेश्वरी ने भी प्रोग्राम के तहत नए प्रोजेक्ट बनाने वाले सभी स्टूडेंट्स को बधाई दी है।

रोबोट ने खींचे फोटो, मोबाइल से घर की लाइट ऑन-ऑफ

आईओटी प्रोग्राम के समापन कार्यक्रम के तहत बच्चों ने रोबोट के जरिए ट्रेफिक कंट्रोल करने व मोबाइल स्क्रीन पर फोटो खींचने, दूर बैठकर घर या ऑफिस की मोबाइल के जरिए लाइट ऑन-ऑफ करने, खेत पर सिंचाई करने सहित कई प्रोजेक्ट का लाइव डेमो दिखाया। सीपीयू के सहायक प्रोफेसर व प्रोग्राम कॉर्डिनेटर मोहनीश विद्यार्थी ने बताया कि इंटीग्रेटेड चिप में कॉर्डिंग के जरिए रोबोट को कंट्रोल करने, उसे किसी काम करने के लिए संकेत देने सहित कई बारीकियों से अवगत कराया गया। एक्सपर्ट अजय सैनी, पार्थ, रोहित, प्रवेश आदि ने प्रशिक्षण दिया।

 

Career Point
Register New Account
Reset Password