सीपीयू से पायल को मिली पीएचडी की उपाधि

कोटा, 26 अप्रैल। phdकॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी (सीपीयू) में स्कूल ऑफ सांइसेज (कैमिस्ट्री) से होनहार स्टूडेंट पायल वर्मा को अपना शोध कार्य पूरा करने पर यूनिवर्सिटी द्वारा पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई है। महावीर नगर निवासी पायल ने यूनिवर्सिटी के रिसर्च गाइड डॉ. प्रदीप पाराशर के सानिध्य में ’डिटरमिनेशन ऑफ एंटीबायोटिक्स इन हॉस्पिटल वेस्ट वॉटर यूजिंग सॉलिड वेस्ट एक्स्ट्रेक्शन एण्ड एचपीएलसी’ विषय पर शोध किया है। पायल ने बताया कि आजकल सामान्य बीमारियों जैसे फ्लू, जुखाम आदि में चिकित्सक ब्राड स्पेक्ट्रम एंटीबायोटिक दवा मरीज को देते है अथवा मरीज स्वयं भी मेडिकल स्टोर्स या ऑनलाइन स्टोर से भी एंटीबायोटिक खरीदकर खा लेते है। जिससे एंटीबायोटिक रेजिस्टेंट बैक्टीरिया पनप रहे है, जो पर्यावरण के लिए नुकसानदायक है। हमारा शरीर दवा का सिर्फ 35 से 40 प्रतिशत ही मेटाबोलाइज कर पाता है और शेष यूरिन अथवा मल द्वारा शरीर से त्याग दिया जाता है जो सीवेज टैंक में चला जाता है। जिसके जरिये सरफेस वाटर एवं अंततः ग्राउंड वाटर में चला जाता है जो कि जलीय जीव, पर्यावरण एवं मनुष्य के लिए हानिकारक है।

 

 

Career Point
Register New Account
Reset Password
%d bloggers like this: